Wednesday , January 16 2019
Home / Facts / भगत सिंह के बारे में रोचक तथ्य । Facts about Bhagat Singh In Hindi

भगत सिंह के बारे में रोचक तथ्य । Facts about Bhagat Singh In Hindi

क्रांति का दूसरा नाम हैं भगत सिंह। सिर्फ 23 वर्ष की आयु में शहीद हुए भगत सिंह के किस्से आज भी स्कूलों में पढ़ाए जाते है इतना ही नहीं आज भी कई बड़े-बड़े नेता अपने भाषण में भगत सिंह को याद करना नहीं भूलते तो हम कैसे भूल जाए शहीद-ए-आज़म को
इनका जन्म 1907 में और 1931 में फाँसी  हुई. मात्र 23 साल की उम्र में ही भगत सिंह हंसते-हंसते फाँसी पर झूल गए । हम बचपन से किताबों में यही पढ़तेआ रहे हैं लेकिन कुछ ऐसी भी बाते होती हैं जो किताबों में नही बताई जाती. जैसे किताबों में भगत सिंह को शहीद बताया जाता हैं लेकिन भारत सरकार तो उन्हें शहीद नही मानती ।

तो आइये जानते है शहीद भगत सिंह से जुड़े कुछ ऱोचक तथ्य

1. जलियाँवाला बाग हत्याकाण्ड ने भगत सिंह की सोच पर गहरा प्रभाव डाला था। तब भगत सिंह उम्र महज़ 12 वर्ष थी।

2. भगत सिंह का जन्म पंजाब राज्य के लायलपुर जिले में हुआ था जो अब पाकिस्तान में है।

3. भगत सिंह जब बच्‍चे थे तब वह बंदूकों की खेती करने की बातें किया करते थे। ( बचपन में जब भगत सिंह अपने पिता के साथ खेत में जाते थे तो पूछते थे कि हम जमीन में बंदूक क्यों नही उपजा सकते )

4. भगत सिंह को फांसी की सजा सुनाने वाला न्यायाधीश जी.सी. हिल्टन था ।

5. इंकलाब जिंदाबाद जैसे नारे भगत सिंह ने दिए थे ।

6. भगत सिंह को अराजकतावादी और मार्क्सवादी विचारधारा में रुचि थी।

7. भग़त सिंह शादी नहीं करना चाहते थे। जब उनके माता-पिता उनकी शादी की योजना बना रहे थे, वह घर छोड़कर कानपुर आ गए थे। उन्होनें कहा अब तो आजादी ही मेरी दुल्हन बनेगी ।

8. भग़त सिंह एक अच्छे लेखक भी थे वो उर्दू और पंजाबी भाषा में कई अखबारों के लिए नियमित रूप से लिखते थे ।

9. सेंट्रल असेंबली में भगत सिंह और उनके साथियों ने जो बम फेंके थे, वो निचले स्तर के विस्फोटक से बनाए गए थे, क्योंकि वह किसी को मारना नहीं, बल्कि अपना संदेश देना चाहते थे ।

10. हिन्दू-मुस्लिम दंगों से दुःखी होकर भग़त सिंह ने घोषणा की थी कि वह नास्तिक हैं ।

11. भग़त सिंह ने अपना वेश वदलने के लिए अपने बाल कटवा लिए और दाढ़ी भी साफ करवा ली। अंग्रेजो से बचने के लिए ऐसा करना जरूरी था ।

12. आज हम शहीद-ए-आज़म भगत सिंह के बारे में ऐसे ही रोचक तथ्य बताएंगे जो शायद आपको न पता हो.

13. भगत सिंह की अंतिम इच्छा थी कि उन्हें गोली मार कर मौत दी जाए। हालांकि, ब्रिटिश सरकार ने उनकी इस इच्छा को भी नज़रअंदाज़ कर दिया.

14. भगत सिंह ने अपने काॅलेज के दिनो में National Youth Organisation की स्थापना की थी.

15. महात्मा गांधी की अहिंसा की नीतियों से भगत सिंह सहमत नहीं थे. भगत सिंह को लगता था कि बिना हथियार उठाए आजादी नहीं मिल सकती हैं.

16. भगत सिंह और उसके साथियों को फाँसी की सजा इसलिए सुनाई गई क्योकिं उन्होनें नेशनल असेम्बली में बम गिराया था ।

17. आदेश के मुताबिक भग़त सिंह, राजगुरु और सुखदेव को 24 मार्च 1931 को फांसी लगाई जानी थी, सुबह करीब 8 बजे. लेकिन मार्च 23,  1931 को ही इन तीनों को  शाम करीब सात बजे ही फांसी लगा दी गई और शव रिश्तेदारों को न देकर रातों रात ले जाकर व्यास नदी के किनारे जला दिए गए मार्च अंग्रेजों ने भग़त सिंह और अन्य क्रांतिकारियों की बढ़ती लोकप्रियता और 24 मार्च को होने वाले संभावित विद्रोह की वजह से 23 मार्च को ही भग़त सिंह और अन्य को फांसी दे दी ।

18. भग़त सिंह की चिता एक बार नही बल्कि दो बार जलाई गई थी ।

19. काॅलेज के दिनो में भग़त सिंह एक अच्छे अभिनेता भी थे, उन्होने बहुत से नाटकों में हिस्सा लिया । भग़त सिंह को कुश्ती का भी शौक था ।

20. भग़त सिंह को फिल्में देखना और रसगुल्ले खाना काफी पसंद था। वे राजगुरु और यशपाल के साथ जब भी मौका मिलता था, फिल्म देखने चले जाते थे। चार्ली चैप्लिन की फिल्में बहुत पसंद थीं। इस पर चंद्रशेखर आजाद बहुत गुस्सा होते थे ।

22. देश की सरकार भगत सिंह को शहीद नहीं मानती है, जबकि आजादी के लिए अपनी जान न्योछावर करने वाले भगत सिंह हर हिन्दुस्तानी के दिल में बसते हैं ।

23. महात्मा गाँधी चाहते तो भगत सिँह की फांसी रूकवा सकते थे. लेकिन उन्होनें ऐसा नही किया ।

उम्मीद है की आपको मेरी पोस्ट भगत सिंह के बारे में रोचक जानकारी / About Bhagat Singh in Hindi आपको पसंद आई होगी।

Tag: Biography of saheed bhagat singh in hindi, भगत सिंह राजगुरू सुखदेव, भगत सिंह की मृत्यु, भगत सिंह को फांसी, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह जीवनी, भगत सिंह का जीवन परिचय,

Also Read –

 

About admin

Check Also

दीपावली से जुड़े कुछ खास रोस्क तथ्य जो आपको पता होने चाहिए

दिवाली और दीपावली भारत देश का सबसे बड़ा त्यौहार है. सभी लोग इस दिन रात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *